बाल विकास की प्रक्रिया को प्रोत्साहित करने के लिए, मिनरल और विटामिन की नियमित आपूर्ति शरीर के लिए आवश्यक होती है। किसी भी आवश्यक मिनरल की कमी बाल विकास में बाधा उत्‍पन्‍न कर बालों के झड़ने का कारण बनती है। यहां इस समस्‍या से बचने के उपाय दिये गये है।
1) बालों के झड़ने की समस्‍या :-
खूबसूरत बाल व्‍यक्तित्‍व में निखार लाने के साथ-साथ अच्‍छी सेहत का आईना भी होते हैं। बालों का बेवक्त झड़ना किसी की भी नींद उड़ा सकता है। बालों के झड़ने की समस्‍या आज एक महामारी बन गया है, जिसने दुनिया भर के लगभग हर उम्र और लिंग के लोगों को प्रभावित किया है। बालों के झड़ने की समस्‍या आपके समग्र व्यक्तित्व और आत्मविश्वास को अचानक झटका दे सकता है।
2) बाल झड़ने के कारण :-
जब बाल ऐनाजेन में प्रवेश करते हैं, तो बालों के विकास के चक्र का चरण, जिसे बालों के एक्टिव स्टेज के रूप में जाना जाता है, इसमें बालों की जड़ में कोशिकाएं तेजी से डाइविंग करना शुरू कर देती है। इस प्रकार से नए बालों का गठन होता है। बहुत से लोगों के बाल एक निश्चित अवधि में नहीं बढ़ते, और इसका मुख्‍य कारण कम सक्रिय चरण वृद्धि है। लेकिन अब आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है, क्‍योंकि यहां दिये सुझावों की मदद से आपको 10 दिनों में अवरूद्ध बालों के विकास की प्रक्रिया में मदद मिलेगी।
3) तनाव से लड़ें :-
बाल झड़ने की समस्‍या का सामना कर रहे, लोगों को अपने जीवन-शैली की जांच करनी चाहिए। नींद या तनाव के स्तर में किसी भी प्रकार का परिवर्तन बालों के झड़ने को नेतृत्‍व करता है। इस समस्‍या से बचने के लिए अपनी जीवन-शैली को पुनर्निर्धारित करें और तनाव को दूर करने के हर संभव प्रयास करें।
4) सालमन खाओ
बालों के ना बढ़ने की मुख्‍य कारण सही पोषण की कमी है। सालमन, सार्डिन, ट्राउट और मैकरील जैसी समुद्री मछलियों में विटामिन डी और ओमेगा -3 फैटी एसिड की मौजूदगी बाल विकास को बढ़ावा देने में मदद करती हैं। अगर आप मांसाहार लेते हैं तो अपने आहार में नियमित रूप से मछली का सेवन करें। इससे देखते ही देखते आपके बाल झड़ने की समस्या खत्म हो जायेगी और साथ ही नये बाल भी उगने लगेंगे।
5) एवोकाडो, कद्दू के बीज और अखरोट :-
एवोकाडो, कद्दू के बीज और अखरोट, यह सभी खाद्य पदार्थ ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर होते हैं। और शाकाहारियों के लिए किसी वरदान की तरह होते हैं। साथ ही इसमें बालों के झड़ने के कारणों में से एक कारण जिंक का अभाव, मौजूद होता है।
6) कस्तूरी :-
जिंक कोशिकाओं के उत्पादन, ऊतकों के विकास और मरम्मत के लिए महत्‍वपूर्ण होता है। साथ ही जिंक बालों के रोम को बढ़ावा देने में मदद करता है। इसके अलावा प्रोटीन आपके शरीर और बाल स्वास्थ्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। कस्तूरी जिंक, आयरन और प्रोटीन से भरपूर होती हैं। छह कस्‍तूरी में दैनिक जरूरत का लगभग 220 प्रतिशत जिंक, 33 प्रतिशत आयरन और आठ ग्राम प्रोटीन होता है।
7) ,अंडे :-
बालों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए अंडा बेहद जरूरी हैं। अंडे प्रोटीन, जिंक, सेलेनियम, सल्फर और आयरन का एक समृद्ध स्रोत हैं। आयरन की कमी से प्रीमेनोपोज महिलाओं में बालों के झड़ने के मुख्य कारणों में से एक हो सकता है। साथ ही इसमें मौजूद लेसिथिन तत्व बालों के फॉलिकल्स को मजबूत बनाने का काम करते हैं। ये उनका टूटना कम करते हैं और उनमें जान भर देते हैं।
8) हरी पत्तेदार सब्जियां :-
हरी पत्‍तेदार सब्जियां आयरन का महत्‍वपूर्ण स्रोत है। बालों के गिरने की समस्‍या का अनुभव करने वाले शाकाहारियों को पालक जैसी हरी सब्‍जी का इस्‍तेमाल करना चाहिए। इसमें पशु आ‍धारित स्रोतों से कम कोलेस्‍ट्रॉल होता है। इसके अलावा, पालक और अन्य हरी सब्जियां विटामिन 'सी' और 'ए' से भरपूर होती हैं। ये दोनों कोलेजन के उत्पादन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email