पाचन के लिए
अपच, गैस, कब्ज जैसी समस्या से निपटने के लिए मेथी के दानों का सेवन बहुत ही लाभकारी है।
ये शरीर में अंदर मौजूद सारी गदंगी को बाहर निकाल देता है, जिससे पेट से संबंधित किसी प्रकार की कोई समस्या भी नहीं होती।
साथ ही पाचन क्रिया भी सुचारू रूप से चलती है।

बालों की मजबूती के लिए
मेथी के दानों को अपनी डाइट का हिस्सा बनाएं। उसे रात भर पानी या नारियल के तेल में भिगों कर सुबह इसका पेस्ट बनाकर बालों पर लगाने से बाल काले और चमकदार होते हैं। साथ ही, ड्रायनेस और रूसी की समस्या भी दूर होती है।
कोलेस्ट्रॉल कम करें
मेथी के दाने बढ़ते कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करते हैं।
घरेलू नुस्खों द्वारा कोलेस्ट्रॉल कम करने का इससे बेहतर इलाज कोई दूसरा नहीं।
मेथी बैड कोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है।
दिल की बीमारियों से रखे दूर
मेथी के दानों और पत्तियों में पाए जाने वाला गैलेक्टोमैनन पोटैशियम का बहुत बड़ा स्रोत है। यह सोडियम की मात्रा को कंट्रोल करके दिल की धड़कन के उतार-चढ़ाव को मेंटेन करता है जिससे ब्लड प्रेशर नॉर्मल रहता है।
सीने की जलन से राहत

एक चम्मच मेथी के दानों का सेवन करने से मसालेदार और ऑयली खाने के कारण हो रही सीने की जलन से छुटकारा पाया जा सकता है। आमतौर पर गर्मियों में गैस की समस्या भी हो जाती है।
इसे दूर करने में मेथी कारगर है। बस इसे खाने से कुछ देर पहले पानी में भिगो देना चाहिए, जिससे इसके ऊपर का लसलसापन थोड़ा कम हो जाए।
डायबिटीज में फायदेमंद
मेथी का इस्तेमाल डायबिटीज में बहुत ही फायदेमंद है। गैलेक्टोमैनन आसानी से घुलने वाला फाइबर है, जो ब्लड में शुगर की अब्जॉर्ब करने की क्षमता को कम करता है।
इसके साथ ही मेथी में एमीनो एसिड्स की मौजूदगी इंसुलिन के प्रोडक्शन को भी बढ़ाती है, जो डायबिटीज के रोगियों के लिए जरूरी है।
बुखार के साथ ही गले की खराश की समस्या में राहत
किसी भी कारण से हो रहे बुखार की समस्या से निपटने के लिए मेथी के दानों को एक चम्मच नींबू और शहद के साथ लेने से तुरंत फायदा मिलता है। यह बॉडी को अंदर से पोषण देता है। और तो और, मेथी के दानों से लेकर इसकी पत्तियां सर्दी-खांसी जैसी समस्या से निपटने के साथ ही गले की खराश और दर्द से भी राहत दिलाती हैं।

वजन कम करने में सहायक
रात भर पानी में भिगोए हुए मेथी के दानों को सुबह खाली पेट चबाने से मोटापा कम करने में सहायता मिलती है। घुलनशील फाइबर पेट में जाकर फूलता है। इससे पेट भरा-भरा लगता है, जिससे भूख कम लगती है और ओवरइटिंग की समस्या से बचा जा सकता है।
प्रसव में आसानी
प्रसव के दौरान होने वाली पीड़ा से निपटने में भी मेथी के दाने बहुत ही गुणकारी हैं।
बच्चे के जन्म के समय अनेक प्रकार की समस्याएं शुरू हो जाती हैं, जिसमें लेबर पेन सबसे ज्यादा दर्दनाक होता है।
इससे बचने के लिए मेथी का सेवन फायदेमंद रहेगा, लेकिन यहां ध्यान देने वाली बात ये भी है कि अधिक मात्रा में इसके सेवन से गर्भपात और प्रीमेच्योर शिशु के जन्म की भी संभावनाएं बढ़ जाती हैं।
दूध बनाने में मददगार
प्रसव बाद दूध कम बनने की समस्या से निपटने में भी मेथी के दाने बहुत ही लाभकारी हैं। डॉक्टर से लेकर घर के बड़े-बूढ़े तक इस समस्या से निपटने के लिए मेथी खाने की सलाह देते हैं।
डिसोजेनीन की मौजूदगी दूध के बनने में मददगार होती है, इसलिए इसका रोजाना थोड़ी मात्रा में ही सही, सेवन जरूर करना चाहिए।

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email