सब्जियों के जूस से घटती है कमर के आसपास की चर्बी।
लौकी, करेला, खीरा, लौकी आदि सब्जियो का जूस फायदेमंद।
फाइबर के लिए छानकर नहीं पीना चाहिए सब्जियों का जूस।
● दिन प्रतिदिन बढ़ती कमर ने आपकी रातों की नींद उड़ा रखी है तो परेशान होने की जरूरत नहीं। सब्जियों का नियमित रूप से जूस पीना शुरू कर दें। फिर देखिए वजन कैसे कम नहीं होता। हाल ही में हुए एक अध्ययन में कहा गया है कि रोजाना एक गिलास सब्जियों (कम नमक वाला) का जूस पीना वजन घटाने में बेहद कारगर है। यह पौष्टिक तो होता ही है इसका सबसे ज्यादा फायदा मोटे लोगों और कमजोर पाचन तंत्र वाले लोगों को पहुंचता है।
1) मोटापा घटाते सब्जियों के जूस
जो लोग डायटिंग कर रहे हैं उनके लिये यह जूस बहुत उपयोगी हो सकता है। यह विटामिन और प्रोटीन से भरा रहता है इसलिये इसे पीने से स्‍वस्‍थ्‍य बाल, त्‍वचा और आंखें प्राप्‍त होती हैं। करेले का जूस मधुमेह को ठीक करता है और साथ में शरीर में जमी चर्बी को भी बाहर निकालता है। यदि आपको यह जूस पीने में कडुआ लग रहा है तो आप इसमें नींबू का रस मिला सकते हैं।
लौकी का जूस मोटापा, उच्चरक्तचाप, अम्लपित्त पित्तज रोगों, हृदयरोग एवं कोलेस्ट्रॉल को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसे सीमित मात्रा में पिये और अगर यह कड़वी है तो इसे ना पिये।यदि आपको मोटापा कम करना है और स्‍किन को चमकदार बनाना है तो खीरे का जूस रोज पीजिये। यह आसानी से पच भी जाता है और शरीर को अंदर से साफ भी करता है।
ब्रोकोली में वसा बिलकुल भी नहीं होती है| यह विटामिन,प्रोटीन,कार्बोहाईड्रेट से भरपूर होती है| यह जल्दी पच जाती है| इसमें विटामिन ई केल्सियम,आयरन ,मेग्नेशियम आदि तत्व पाए जाते हैं| यह सब्जी मोटापा कम करने में मददगार होती है| लौकी में कम केलोरी होने के साथ ही प्रचुर रेशा और पानी की मात्रा होती है जो भूख को नियंत्रित रखते हैं| अपने दिन की शुरुआत एक गिलास लौकी के जूस से करना उचित है| इससे शरीर को फाईबर मिलेगा और केलोरी कम होंगी| लौकी के जूस को छानना नहीं चाहिए | छानने पर फाईबर की मात्रा कम हो जाती है|
2) सब्जियों के जूस के सेवन में सावधानी :-
हरी सब्जियों के जूस को स्ट्रा से पिएं जिससे इसका दांतों से संपर्क कम से कम हो। हरी सब्जियों के जूस में नींबू सा साइट्रस फलों को न मिलाएं क्योंकि क्रोमोटेन और साइट्रस फलों में मौजूद टैनिन के मिलने से दांतों को अधिक नुकसान पहुंचता है। रोज हरी सब्जियों का जूस पीते हैं तो दिन में कम से कम तीन बार ब्रश करें।सब्जियों के जूस को भूख लगने पर कभी भी लिया जा सकता है।
सब्जियों को मिक्सर में पीस कर निकाला जाता है। इससे सब्जियों में खूब सारा फाइबर आ जाता है, जो कि पेट और शरीर के लिए अच्छा होता है।

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email